National

आतंकवाद के खिलाफ भारत-चीन साथ, 11 दिसंबर से 14 दिनों तक करेंगे संयुक्त सैन्य अभ्यास

बीजिंग : भारत और चीन आतंकवाद से लड़ने की अपनी क्षमताओं में सुधार लाने और आपसी समझ को बढ़ावा देने के लिए, करीब एक साल के अंतराल के बाद मंगलवार को दक्षिण पश्चिम चीनी शहर चेंगदू में संयुक्त सैन्य अभ्यास शुरू करेंगे। अधिकारियों ने बताया कि अभ्यास का उद्घाटन समारोह 11 दिसम्बर को आयोजित किया जाएगा। चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल रेन गुओकियांग ने पिछले महीने कहा था, कि सातवें भारत-चीन साझा सैन्य अभ्यास ‘हैंड इन हैंड’ में दोनों तरफ से 100-100 सैनिक हिस्सा लेंगे। अभ्यास आतंकवाद विरोधी अभियानों पर केन्द्रित होगा। वर्ष 2017 में दोनों देशों के बीच सिक्किम के डोकलाम क्षेत्र में करीब 73 दिन तक गतिरोध चलने के कारण यह अभ्यास करीब एक साल बाद हो रहा है। चीन के वूहान में इस साल अप्रैल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग की अनौपचारिक शिखर वार्ता के बाद दोनों देशों के बीच संबंध पुन: पटरी पर लौटे।.


कर्नल रेन ने कहा, ‘अभ्यास से दोनों सेनाओं के बीच आपसी समझ को बढ़ावा मिलेगा और आतंकवाद से लड़ने की उनकी क्षमताओं में सुधार आएगा।’ उन्होंने बताया कि यह अभ्यास 23 दिसम्बर तक चलेगा।

बता दें कि पिछले महीने नवंबर में ही रक्षा मंत्रालय ने बताया था कि भारत चीन संयुक्त सैन्य अभ्यास 10 दिसंबर से शुरू होगा, जो 14 दिन तक चलेगा। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल रेन गुओकियांग ने बताया कि भारत और चीन के सातवें संयुक्त सैन्य अभ्यास में दोनों पक्ष 100-100 सैनिकों को भेजेंगे। इस अभ्यास को ‘हाथ में हाथ’ नाम दिया गया है और इसका मुख्य मकसद आतंकवाद विरोधी अभियान पर ध्यान केंद्रित करना है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर
और ट्विटर पर करे!

loading...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top
Translate »